न्यूज

न्यूज

जेसीबी पर सवाल होकर दुल्हन लेने पहुँचा इंजिनियर दूल्हा, दुल्हन ने दिया ऐसा रिएक्शन

आपने सुना तो होगा ही की दुनिया में सबसे ज्यादा अजीब किसी प्रोफेशन के लोग होते है तो वो इंजिनियर होते है और अपनी दुनिया में तो वो इनोवेटिव ही होते है जो हर काम को अलग ही ढंग से करते है. अभी हाल ही में एक सिविल इंजिनियर दूल्हे ने ऐसा कुछ करके दिखा दिया. ये पूरी घटना छत्तीसगढ़ के कसडोल की है जहाँ पर रहने वाले एक सिविल इंजिनियर अमीश कुमार ने एक अनोखे अंदाज में बरात ले जाने की सोची. इसी के चलते अमीश कुमार ने एक जेसीबी अपनी बरात ले जाने के लिए बुक करवा ली.

पहले जब अमीश ने अपने घर वालो को इस बारे में बताया तो घर वालो ने काफी आना कानी की लेकिन आखिरकार अमीश ने अपनी जिद मनवा ही ली और बाद में वो जेसीबी पर चढ़कर दूल्हा बनकर के पहुंचा और दुनिया उसे बस देखती ही रह गयी. हर कोई देखकर के दंग था जब अमीश जेसीबी पर अपनी बारात लेकर के निकला.

उसने अपनी जेसीबी पर बड़े बड़े शब्दों में सिविल इंजिनियर भी लिखवाया ताकि लोगो को मालूम चल सके की वो पढ़ा लिखा है और जान बूझकर के ऐसा कर रहा है. अमीश कुमार जब बरात लेकर के दुल्हन के पास में पहुंचा तो अचंभित होकर के दुल्हन भी बड़ी ही खुश हुई और उसने माना की उसके पति में कुछ तो अलग है जिसके चलते वो इतना वायरल हो गया है.

अमीश ने एक और मिसाल पेश करते हुए दहेज़ में एक रूपया तक लेने से इनकार कर दिया और इससे कही न कही बाकी लडको को भी सीख लेने की जरूरत है. अमीश कुमार वापिस दुल्हन को भी जेसीबी में चढ़ा ले गया और ख़ुशी ख़ुशी से ये शादी हो गयी. वैसे तो कई लोग शादियाँ करते है लेकिन कुछ ही होते है जो उसे इस तरह से ख़ास बना देते है.

विंग कमांडर अभिनन्दन से जुड़ा बड़ा खुलासा, पाकिस्तान में रहते हुए अभिनंदन ने..

विंग कमांडर अभिनन्दन के बारे में सभी को जानकारी है और सब जानते है कि वो देश के शूरवीर है जिन्होंने न सिर्फ दुश्मन का फाइटर प्लेन गिरा दिया बल्कि पाकिस्तान में भी बड़े ही शेरदिल की तरह रहकर के लौटे है. लेकिन अब तक आपको और हमें जो जानकारी मिली वो अधूरी थी. हाल ही में कई सारी मीडिया रिपोर्ट्स सामने आयी है जिसमे साफ़ हुआ है कि अभिनन्दन को पाकिस्तान में रखते हुए जबरदस्त तरीके से उन्हें प्रताड़ित किया गया था. अभिनन्दन ने बहुत कुछ झेला था जब वो पाकिस्तान में उनके बंदी थे.

जब तक अभिनन्दन पाक आर्मी की कस्टडी में थे तब तक उनके साथ में सही व्यवहार किया गया मगर जब उन्हे पूछताछ के लिए पाकिस्तान की एजेंसी आईएसआई के पास भेजा गया तब कई घंटो तक लगातार उनके साथ में बड़ा ही बुरा व्यवहार किया गया. उन्हें लगातार और बार बार प्रताड़ित किया गया.

उनके आँखों पर पट्टी बांधकर उनके देश और रॉ के बारे में उलटी सीधी बाते कही गयी और उनसे कहा गया कि अब तुम्हे कोई भी यहाँ से बचाकर के नही ले जा सकता है. इनके जरिये अभिनंदन को डिप्रेस करने की भरपूर कोशिश की गयी ताकि उनका मनोबल टूट जाए और उनके पास में जो भी इनफार्मेशन देश से जुडी हुई हो वो सब वो उन्हें दे दे लेकिन अभिनान्दन ने ऐसा नही किया और वो लगातार डटे रहे.

आखिरकार उन्होंने अपने आपको साबित किया और भारत सरकार की कोशिशो की बदौलत वो वापिस लौट भी आये. इसके बाद में अभिनन्दन के लिए देश भर में सम्मान की लहर है और तो और रूस ने भी अभिनन्दन की तारीफ़ की है जिसके बाद में वो एयरफाॅर्स के हीरो की तरह है जो आगे भी इसी तरह से भारत के लिए सुरक्षा करने का काम करते रहेंगे और जज्बे से करते रहेंगे.

महिला को पेशाब में आ रहे थे कीड़े लेकिन ध्यान नही दिया, काफी दिनों बाद डॉक्टर के पास गयी तो..

अक्सर हमारे शरीर में कुछ एक चीजे ऐसी होती है जिन्हें लगातार इग्नोर करते चले जाते है लेकिन जब तक वो सामने आती है और ध्यान जाता है तब तक काफी देर हो चुकी होती है और ऐसा ही एक महिला के साथ में भी हुआ. ये पूरा मामला साउथ केरोलिना का है जहाँ पर रहने वाली एक महिला जो हाल ही में मेक्सिको से यहाँ पर शिफ्ट हुई थी. उसने देखा कि जब भी वो यूरीन करती है तो उसके यूरीन में बड़ा दर्द होता है. उसके नोटिस करने पर उसके ध्यान में आया कि जहाँ पर वो यूरीन करती है वहाँ पर छोटे छोटे कीड़े निकल रहे है.

शुरू में तो उसने इस बात पर ध्यान ही नही दिया और जैसा चल रहा है वैसा चलने दिया लेकिन कुछ ही दिनों के भीतर ये और भी बढ़ गया तो वो डॉक्टर के पास में पहुँची. डॉक्टर ने सारे मेडिकल टेस्ट्स किये और जो रिपोर्ट्स निकलकर के आयी वो सामान्य तो बिलकुल भी नही थी.

उसमे पता लगा कि महिला के पेट में और कुछ नही बल्कि लार्वा मक्खियाँ है. ये छोटी तो होती है लेकिन इन्हें आँखों से देखा जा सकता है. इनका पूरा का पूरा झुण्ड महिला के ब्लैडर में जमा हो चुका था जो उसे लगातार नुकसान पहुंचाए ही जा रहा था. यही नही ये मक्खियाँ बहुत ही कम संयोग होता है कि इंसानी शरीर में पायी जाए.

साउथ केरोलिना की इस महिला ने तुरंत अपना इलाज शुरू करवाया और काफी मशक्कत के बाद धीरे धीरे करके इन लार्वा मक्खियो को शरीर से बाहर किया गया तब जाकर के वो महिला स्वस्थ हुई. इन घटनाओ को आप तक पहुंचाने का मकसद सिर्फ यही होता है कि अगर आपके आस पास इस तरह की घटनाएं होती हुई नजर आती है तो उन्हें संभालकर के हल करने की जरूरत है.

छोटी सी 12वी पास लड़की बन गयी पुलिस कमिश्नर, आखिर कैसे?

आपने अनिल कपूर की फिल्म नायक तो देखी ही होगी. उस फिल्म में अनिल कपूर को एक दिन के लिए मुख्यमंत्री बना दिया जाता है और उस एक दिन में वो पूरे राज्य को ही बदल डालते है. जब तक 24 घंटे बीतते है तब तक वो पूरे राज्य में उठापटक ही कर देते है. अब आप सोचिये आपको भी ऐसा ही कुछ मौका मिले तो? आपको भी अगर किसी बड़े सरकारी पद पर बैठने का मौका मिल जाए तो? आप कहेंगे कि ऐसा सिर्फ फिल्मो में ही होता है लेकिन ऐसा हकीकत में भी एक जगह पर हुआ है.

हम बात कर रहे है रिचा शर्मा की जिसने ISC बोर्ड में कुल 99.25 प्रतिशत अंक हासिल किये है और वो अपने राज्य बंगाल की टोपर है. रिचा शर्मा को सम्मानित करने के लिए कोलकता पुलिस ने रिचा शर्मा को एक दिन के लिए कलकत्ता का पुलिस कमिश्नर बना दिया.

उस दिन सभी पुलिस अधिकारी रिचा शर्मा को कमिश्नर की तरह सम्मान देते है और साथ ही साथ में उनके कहे हुए सारे आर्डर भी फोलो करते है ठीक उसी तरह जैसे नायक फिल्म में अधिकारी लोग अनिल कपूर की बाते मानते है. ये अपने आप में उन्हें सबसे अलग बना देता है और एक दिन का इतना बड़ा अफसर होना कोई कम भी नही होता है. इन सबके बीच में रिचा शर्मा का कहना है कि वो आगे चलकर के इसी तरह देश के लिए काम आना चाहती है.

ऐसा अक्सर बच्चो के साथ में किया जाता है. जब कोई बड़ी रैंक पर टॉप करता है तो उन्हें कोई बड़ा ओहदा एक दिन के लिए दिया जाता है ताकि वो उसकी अहमियत को समझे और उन्हें और अधिक मेहनत करने के लिए प्रेरित किया जा सके और ये बड़ा ही कामयाब तरीका है जिससे बच्चे सचमें प्रोत्साहित होते है और हुए है.

शाहिद अफरीदी ने कहा ‘गौतम अपने दिमाग का इलाज करवाए’, गंभीर ने दिया करारा जवाब

भारत और पाकिस्तान के बीच में जो कुछ भी तनाव है उससे तो सभी वाकिफ है और सभी लोग इस पर एक बात कहते भी है कि पाकिस्तान किसी न किसी तरह से अपनी खुन्नस निकालने की कोशिश में लगा ही रहता है. ऐसा ही कुछ असर इन दिनों में पाकिस्तान के क्रिकेटरो पर भी होने लगा है क्योंकि वो हमेशा भारतीय क्रिकेटरो से हारते रहे है. अब शाहिद अफरीदी ने अपनी भड़ास जमकर के गौतम गंभीर पर निकाली है. शाहिद अफरीदी ने अपनी आत्मकथा लिखी है जिसमे उन्होंने गौतम गंभीर का भी जिक्र किया है.

शाहिद अफरीदी गौतम गंभीर के बारे में लिखते है कि गंभीर एक चरित्रहीन क्रिकेटर है जिनके पास में कोई ख़ास बड़ा क्रिकेट रिकॉर्ड भी नही है. वो ये भी कहते है कि गंभीर मानसिक रूप से बीमार है इसलिए वो पाकिस्तान आ जाए उनका इलाज करवा देंगे. गौतम गंभीर ने शाहिद अफरीदी का जवाब भी दिया है और कहा है कि ऐसा लिखने से उनका नाम इस्तेमाल करने से उनकी सौ दो सौ किताबे बिक जायेगी इससे ज्यादा और क्या होगा?

रही बात मानसिक बीमारी की तो अफरीदी बीमार लगते है और उन्हें इलाज की जरूरत है. अब दोनों के बीच की जुबानी जंग शुरू हो गयी है और अफरीदी मानो अपनी मैदान पर परफॉर्म न कर पाने की खुन्नस अब यहाँ बयानबाजी में निकाल रहे है और क्योंकि गंभीर इन दिनों में राजनीति में भी इंटर हो चुके है तो उनके लिए इन सबका जवाब देना थोडा सा मुश्किल जरुर होता है.

इन सबके बीच में गौतम गंभीर पर आतिशी ने भी आरोप लगाये है कि गौतम गंभीर ने उन्हें बदनाम करने की कोशिश की है और गौतम अचानक से पॉलिटिक्स में आकर के हक्के बक्के हो रहे है कि उनके साथ ये सब हो क्यों रहा है? सो उन्हें समझने में कुछ वक्त तो लगेगा.

बारात लेकर आये दुल्हे के बाप ने माँगे 5 लाख दहेज, फिर दुल्हन ने जो किया वो कभी भूल नही पाएंगे

हिन्दुस्तान में लोग काफी आगे बढ़ रहे है और समाज में लोगो के पास में अच्छी खासी उन्नति भी देखने को मिल ही रही है. इन सबके बीच जब सभी के दिमागों में से कुरीतियाँ निकल रही है लेकिन दहेज़ जैसी चीजे लोगो के दिमाग में आज भी घर बनाये हुए है. ये पूरा मामला धौलपुर का है जहाँ पर एक डॉक्टरी की पढ़ाई कर चुकी लड़की का रिश्ता ऑनलाइन पोर्टल के जरिये एक युवक से हुआ था. रिपोर्ट की माने तो युवक गुरुग्राम में जॉब करता था और लड़की पेशे से एक डॉक्टर है और दोनों के बीच में सही चल रहा था. शादी के समय जो भी दहेज़ वगेरह दिया जाता है वो भी दिया गया लेकिन लालच का कोई भी पार नही होता है.

जब दुल्हन के मैरिज होम पर बरात आयी थी तब वहाँ अपर दूल्हे के पिता ने 5 लाख दहेज़ में कैश की और डिमांड कर दी. इस पर लड़की के पिता ने हाथ जोड़ लिए और कहने लगे कि इतना पैसा तो अचानक से नही हो पायेगा. लडके की माँ ने मौके का फायदा उठाते हुए कह दिया कि उन्हें 5 नही बल्कि 8 लाख रूपये चाहिये.

लालची लोगो का तो फिर कहना ही क्या? रिपोर्ट के अनुसार इन्होने लड़की के परिजनों के साथ में मारपीट भी कर दी. इससे दुल्हन काफी ज्यादा आहत हो गयी और आहत होकर के उसने शादी करने से ही मना कर दिया और बरात को बिन ब्याहे वापिस लौटा दिया गया.

सुबह जाकर के लडकी के घर वालो ने पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज करवाया है और पुलिस ने भी कार्यवाही करने का भरोसा दिया है. लड़की का कहना है कि जिस घर में ऐसा लालच भरा हो और उनके घर वालो और उनके लिए सम्मान ही न हो उस घर में शादी करके उसका भला तो कभी भी नही हो सकता है.

चुनाव के वक्त पीएम मोदी के घर में शोक का माहौल, इस सदस्य का हुआ निधन

देश भर में चुनाव चल रहे है और पीएम मोदी भी चुनावो में बड़े ही जोर शोर के साथ लगे हुए है. हर कोई काफी मेहनत कर रहा है और जगह जगह रैलियाँ हो रही है लेकिन इन सबके बीच में एक बड़ी ही दुःख भरी और दर्दनाक खबर पीएम मोदी के घर से आयी है. पीएम मोदी के भाई प्रहलाद मोदी की पत्नी यानि पीएम मोदी की भाभी का देहांत हो गया है. रिपोर्ट के अनुसार वो पिछले काफी समय से बीमार चल रही थी और इसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया लेकिन तकलीफ इस हद तक बढ़ गयी थी कि वो उसे झेल नही सकी और आखिरकार उनका देहांत हो गया.

उनके देहांत के बाद से काफी दुःख का माहौल है और प्रह्लाद मोदी तो मानो टूट से ही गये है. आपको बता दे वो पीएम मोदी से दो साल छोटे है और एक किराना की दूकान को चलाते है. कभी भी मोदी ने अपने परिवार को अपने पद के जरिये किसी भी तरह का अवैध फायदा देने की कोशिश की इसलिए आज वो लोग मिडल क्लास जिन्दगी जी रहे है.

रिपोर्ट की माने तो प्रहलाद मोदी की पत्नी को डायबिटीज से लेकर किडनी से जुडी दिक्कते आ रही थी. वो बिस्तर से उठ भी नही पा रही थी और आखिर में इन सबके आगे उन्होंने हार मान ही ली फिर प्राण त्याग दिए. खैर इन सबके बीच में एक बात ये भी आती है कि पीएम मोदी को ढंग से अपने भाइयो से मिले हुए भी लगभग तेरह साल गुजर चुके है.

जब से वो राजनीति में गये है तब से जैसे तैसे माँ से मिलने के लिए भी टाइम निकाल लेते है मगर भाईयो से एक बार तसल्ली से बैठकर के बात करने का भी उन्हें टाइम न मिला क्योंकि ज्यादातर वक्त संगठन और सरकार को ही देना पड़ता है.

ये है 500 में से 499 नम्बर लाने वाली सीबीएसई टॉपर हंसिका की सफलता का राज

सीबीएसई का रिजल्ट हाल ही में आया है और इस रिजल्ट के साथ में मुट्ठी में बंद कई बच्चो की किस्मत बाहर आ ही गयी जिसने कईयो को हंसाया तो कईयो को रुलाया लेकिन इन सबके बीच में कोई सबसे टॉप पर रही तो वो थी हंसिका शुक्ला. अब सवाल ये है कि बच्ची ने आखिर 500 में से 499 अंक कैसे हासिल किये? ये अपने आप में बड़ा सवाल है तो कई सारे इंटरव्यू में हंसिका ने इस पर जवाब भी दिया है. हंसिका ख़ास तौर पर पढ़ाई करने दिल्ली में थी और वो डीपीएस स्कूल में पढ़ाई कर रही थी जो हिन्दुस्तान की सबसे बेहतरीन स्कूलों में से है लेकिन सिर्फ स्कूल में होना ही काफी नही है आपको रेगुलर पढ़ाई भी करनी पड़ती है.

हंसिका शुक्ला का कहना है कि अगर आपको सफल होना है तो आपको बस बिना कुछ सोचे लगातार पढ़ाई करनी है बिना परिणाम की चिंता किये. बस इतना भरोसा रखना है कि मुझे अच्छे अंक हासिल करने है और मेने भी ऐसा ही किया जिसके चलते मैं इस पोजीशन पर पहुँच गयी.

हंसिका नियमित पढ़ाई करने वालो में से है जो सिर्फ उसे ही प्राथमिकता देती है जो एक स्कूली जीवन में बेहद ही जरूरी है. हंसिका के पापा राज्यसभा में डिप्टी सचिव के पद पर काम करते है.वो भी अपनी बेटी के लिए बहुत ही सपोर्टिव रहे जिसके चलते हंसिका ने ये मुकाम हासिल किया है और कुछ तो बच्चो की सफलता के पीछे उनके माता पिता और उनकी अच्छी परवरिश ही होती है.

खैर बाकी बच्चो को भी उसे लेकर के प्रेशर में आने की बजाय अपना बेस्ट देने की जरूरत है क्योंकि आप टॉप करे न करे लेकिन आप आपना बेस्ट दे और जो परिणाम आये उसमे खुश रहना चाहिए क्योंकि सभी की अपनी अपनी लाइफ में अपनी खुदकी खूबियाँ होती है जो उसे मुकाम देती है.

हॉस्पिटल से छूटने के बाद पहले बार सामने आया विंग कमांडर अभिनन्दन का विडियो

विंग कमांडर अभिनंदन तो आपको याद ही होंगे कि किस तरह से अकेले एयरफाॅर्स ऑफिसर ने पूरे पाकिस्तान की एयरफाॅर्स और पूरे पाक को हिलाकर के रख दिया था. अभिन्दन ने जिस तरह से अकेले पाक के आधुनिक विमान को गिराया उसके बाद में वो पूरे देश के हीरो से बन गये और लोग भी उनकी जमकर के तारीफे करने लगे मगर इस दौरान उनके साथ में काफी बर्ताव हुआ और लोकल के द्वारा उन्हें कई बार चोट भी पहुंचाई गयी जिसके चलते वो काफी वक्त तक भारत आने के बाद भी अस्पताल में भर्ती रहे और इस दौरान काफी अच्छे तरीके से अभिनन्दन का इलाज चला है जिसके बाद अब वो पूरी तरह से स्वस्थ हो गये है.

अभिनन्दन अब फिर से अपने काम पर लौट आये है और उनका काम पर लौटते ही एक विडियो भी काफी तेजी के साथ में वायरल हुआ है. विडियो में अभिनन्दन काफी खुश नजर आ रहे है और लोग उनके ही फ़ौज के लोग उनके साथ में सेल्फी खिंचवाने में लगे हुए है.

सभी के सभी अभिनन्दन को ऐसे ट्रीट कर रहे है मानो को वो कोई सेलेब्रिटी है. उनके साथ सेल्फी लेने में ही कई लोग तो उनके साथ में फोटो लेने में ही व्यस्त नजर आते है. अभिनन्दन के साथ में ऐसा भी नही है कि वो खुदको दुसरे से अलग फील करने लगे हो. वो पहले की ही तरह मस्त है और अपनी सेवा फिर से फ़ौज को एयर फाॅर्स को देने के लिए तैयार है.

अभिनंदन जैसे वीर सपूत देश को बड़ी ही मुश्किल से मिलते है लेकिन जब मिलते है तो वो अकेले ही हजारो के बराबर होते है जिसके चलते आज देश पूरी तरह से सुरक्षित है चाहे अन्दर की बात करे या फिर बाहर की बात करे हर तरफ ऐसे ही लोगो की वजह से हम सुरक्षित है.

कुत्ते ने खा लिये मालिक के 14 हजार रूपये, मालिक ने फिर कुत्ते के साथ जो किया..

कुत्ते इन्सानो की जिन्दगी का एक बड़ा ही अहम् हिस्सा होते है और लगातार बनते ही चले जा रहे है. लोग उनपर खुद से भी ज्यादा भरोसा करते है और अपने घर की रखवाली तक उनके हवाले कर देते है मगर क्या हो अगर वही कुत्ता आपका बड़ा नुकसान कर दे? ऐसा ही कुछ ऐसा ही कुछ एक नार्थ वेल्स में रहने वाले एक कुत्ते ने कर दिया जिसका नाम ओजी है. ओजी के मालिक का नाम नील राईट है और वो अपने साथी के साथ में बाहर घूमने चले गये और कुत्ता घर के अन्दर ही था.

कुत्ते की नजर एक पैकेट पर गयी जिसमे कुल 160 पाउंड्स रखे थे और कुत्ते ओजी को न जाने दिमाग में क्या आया? वो उसे खाने और चबाने में लग गया. देखते ही देखते उसने सारे पाउंड्स खा लिए. इतना सब कुछ खा लेने के बाद जब मालिक ने उसे देखा तो वो लोग पूरी तरह से हैरान थे.

कुत्ता बिलकुल ही मासूम सी शक्ल बनाकर के बैठा हुआ था जिसे देखकर के किसी को भी दया आ जाए. अब कुत्ते के पेट में पाउंड्स थे जो उसे दिक्कत देने लगे. आप जानते है अब उसके पेट से वो पाउंड्स निकलवाने के लिए भी नील को 140 पाउंड्स खर्च करने पड़े यानि उन्हें लगभग 22 हजार रूपये का नुकसान हुआ लेकिन गनीमत की बात ये रही कि ओजी को कुछ नही हुआ है और वो बिलकुल ही सही सलामत है.

नील का कहना है कि ओजी पहले कभी भी ऐसी हरकत नही करता था लेकिन अभी इन दिनों में उसका व्यवहार काफी बदला है जिसके चलते अब उसने पैसे तक खा लिए जो अपने आप में विश्वास करने लायक नही है लेकी उसने ऐसा किया है. इस तरह का केस भारत में भी बिहार में देखा जा चुका है जब एक गाय ने महिला का मंगलसूत्र खा लिया था जिसे सर्जरी करवाकर के निकलवाया गया.