SHARE

गुलशन कुमार का नाम तो आपने भी खूब वाकिफ होगे आखिर हिन्दूस्तान की म्यूजिक इंडस्ट्री में उनसे बड़ा नाम आज तक कोई हो भी नही पाया है. गुलशन कुमार चाहे आज की तारीख में चले गये हो लेकिन उनकी बनायी हुई कम्पनी टी सीरीज आज भी बुलंदियों पर है और उनके बेटे भूषण कुमार उसे संभाल रहे है. अगर आपको उनके बारे में अधिक जानकारी न हो तो बता दे वो पहले एक बहुत ही मामूली जूस की दूकान लगाया करते थे और एक आम जिन्दगी जीते थे लेकिन उन दिनों में उन पर गाने करने का शौक चढ़ा और उन्होंने खुद गाने गाकर के केसेट बेचना शुरू किया.

ये चीज में वो इतना रम गये कि उन्होंने अपना सारा काम छोड़ा और आकर के मुंबई में ही बस गये. मुंबई में रहकर के उन्होंने टी सीरीज नाम की कम्पनी शुरू की और अपना कैसेट का साम्राज्य शरू किया. उनके कई गाने जैसे कभी प्यासे को पानी पिलाया नही बाद अमृत पिलाने से क्या फायदा?

आदि अपने दौर के बहुत ही बड़े हिट हुए और कम्पनी ने उंचाइयां छू ली लेकिन फिर वो अंडरवर्ल्ड की नजरो में चुभ गये. आपसी कलह रही हो या फिरौती की मांग हो लेकिन इसका भुगतान गुलशन कुमार को अपनी जान देकर के चुकाना पडा था. वो मंदिर से बाहर आ रहे थे तभी अचानक से उन पर गोली चली और उनकी जान वही पर ही चली गयी.

इसके बाद इस मर्डर केस में अब्दुल रऊफ को गिरफ्तार किया गया और उसे उम्र कैद की सजा सुनाई गयी. हालांकि वो जेल से फरार हो गया और बांग्लादेश में जाकर छुप गया. गुलशन कुमार के जाने के बाद में अब उनका सारा काम उनके बेटे भूषन कुमार संभाल रहे है और उनकी पत्नी दिव्या खोसला भी इसमें उनका खूब साथ देती है. गुलशन कुमार के नाम से भूषन कुमार वैष्णो देवी में भंडारा भी करवाते है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY