SHARE

होली अपने आप में रंगों का त्यौहार है और इस त्यौहार पर कई लोग है जो बड़े ही खुश रहते है और लोग काफी ख़ुशी के साथ में इस त्यौहार को जमकर के एन्जॉय भी करते है लेकिन ये बात कम लोगो को ही मालूम है कि जब पूरा हिन्दुस्तान एक साथ में मिलकर के एक साथ में इसका उत्सव मनाता है तब उस समय में एक जगह ऐसी भी है जहाँ पर लोग थोड़े से डरे हुए रहते है. अब ऐसा आखिर क्या है? चलिए जानते है. ये पूरी बात है जमशेदपुर के नजदीक में रहने वाले एक आदिवासी समुदाय की.

इस जगह पर एक प्रथा है. यहाँ पर अगर एक लड़का और लडकी एक दुसरे पर रंग डालते है चाहे वो रंग लडका लडकी पर डाले या फिर लडकी लड़के पर डाले तो ऐसे में गाँव की पूरी प्रथा है कि ऐसी स्थिति में लडकी और लड़के को शादी करनी पडती है. इसलिए गाँव में लड़के और लडकी एक दुसरे के ऊपर पानी डालकर के होली खेल लेते है लेकिन कभी भी एक दुसरे पर रंग नही डालते है क्योंकि अगर ऐसा कुछ भी हुआ तो कुछ भी उनसे पूछा तक नही जाता है और उसी समय उन दोनों की शादी करवा दी जाती है.

ये अपने आप में काफी ज्यादा हैरान करने वाला केस है लेकिन बात तो सच ही है. ऐसा कई बार होली पर हो भी चुका है जब कई बार गलती से किसी लडकी लडके के बीच में एक दुसरे पर थोडा सा भी रंग पड़ जाता है

तो ऐसे में गाँव वाले उन्हें छोड़ते नही है और उनकी शादी करवा देते है. केस थोडा सा बेचीदा सा है पर देश का एक हिस्सा ऐसा भी है और लोग इस तरह की परम्पराओं को बड़े ही गर्व के साथ में जमकर के निभा भी रहे है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY