SHARE

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद हुई मुठभेड़ में मेरठ के रहने वाले अजय कुमार सहित चार जवान शहीद हो गए थे। बुधवार को शहीद ‘अजय कुमार’ का शव उनके घर पहुंचा। शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए ग्रामीणों की और यूपी के मंत्रियों की भीड़ वहां पहुंच गई। श्रद्धांजलि देने आए बीजेपी के नेता और यूपी के मंत्री को उनकी एक भूल की की वजह से शहीद के परिजनों के गुस्से का सामना करना पड़ा। आपको बता दें कि हुआ कुछ यूं कि बीजेपी के नेता शहीद अजय कुमार की चिता के पास जूते पहनकर बैठे थे। इसी बात पर शहीद के परिजनों को अत्यंत गुस्सा आ गया।

परिजनों का गुस्सा देखते ही मंत्री समेत अन्य लोगों को भी अपना जूता खोलना पड़ा। इसके बाद बड़ी मुश्किल से मामला शांत हो पाया। यह सारा मामला वहां मौजूद मीडिया कर्मियों के कैमरे में कैद हो गया। शहीद अजय कुमार का अंतिम संस्कार मेरठ के आईआईटी कॉलेज के खेल मैदान में हो रहा था।

लोगों की भीड़ को देखते हुए वहां प्रशासन ने चिता के आसपास बैरिकेडिंग लगा दी बैरिकेडिंग लगा दी थी। लेकिन फिर भी कई नेता इस बैरिकेडिंग के अंदर जाकर बैठ गए बैठ गए, जिसमें केंद्रीय राज्य मंत्री सत्यपाल सत्यपाल मंत्री सत्यपाल सत्यपाल सिंह, उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री सिद्धार्थ सिंह और मेरठ के बीजेपी विधायक राजेंद्र अग्रवाल भी शामिल थे। मीडिया के कैमरे में कैद इस वीडियो को सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया जा रहा है, जहां जूतों में बीजेपी नेता और सामने नाराज नेता और सामने नाराज परिवारजन नजर आ रहे हैं।

इस दौरान कुछ नेता हंसते कुछ नेता हंसते हुए भी नजर आ रहे हैं। लोग इसे गलत आचरण मान रहे हैं और बता दे कि सोमवार को पुलवामा एनकाउंटर में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला करने वाले जैश के मास्टरमाइंड कामरान उर्फ गाजी रशीद रशीद को मार दिया गया। लगातार 18 घंटे तक चली इस मुठभेड़ में मेजर विभूति सहित चार जवान शहीद हो गए थे और वही एक ब्रिगेडियर लेफ्टिनेंट कर्नल और एक और कर्नल को गोली लग गई थी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY