SHARE

भारत और पाकिस्तान दोनों के ही बीच में पुलवामा हमले के बाद में माहौल बेहद ही खराब हो चला है. दोनों ही तरफ से खींचतान जारी है. पुलवामा में जो कुछ भी हुआ है उसके बाद में तो हर तरफ एक ही चर्चा है कि पाकिस्तान को किसी न किसी तरह से सबक सिखाया जाना चाहिए. कुछ ऐसा किया जाए कि पाकिस्तान दुबारा कभी दशको तक संभल न पाए और इसके लिए नरेंद्र मोदी ने सेना को अपनी रणनीति बनाने की छूट भी दे दी है. ऐसे में हाल ही में पाक के प्रधानमंत्री इमरान खान की तरफ से भी बयान आ गया है जिसके बाद में सीमा पर तनाव बढ़ सकता है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने प्रेस से बात करते हुए कहा कि पुलवामा में जो कुछ भी हुआ, जो भी हमला हुआ है उसमे हमारा हाथ नही है हमपर लगे आरोप झूठे है, यही नही इमरान खान ने तो ये तक कह दिया कि हम तो स्थिरता चाहते है लेकिन अगर भारत किसी भी तरह से कोई भी हमला करता है तो हम भी उसका जवाबी हमला करेंगे.

इमरान खान के इस बयान के कई मायने निकाले जा रहे है इसके बाद में एक बात तो साफ़ हो जाती है कि अब दोनों मुल्को के बीच समझोते जैसा तो कुछ नही बचा है क्योंकि पाक आतंक का गढ़ बन चुका है और ऐसे में इसका सफाया किया जाना बेहद ही जरूरी है.

आपको बता दे हाल ही में सेना ने भी प्रेस वार्ता की थी जिसमे कश्मीर में हो रहे हमलो के पीछे पाकिस्तान का हाथ होने का दावा किया गया था. ये अपने आप में डरावना है क्योंकि गरीब लोगो को बहला फुसला कर पाक अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कर रहा है और ऐसी स्थिति में जरूरत तो यही है कि इनके खिलाफ खड़े होकर के इनका मुकाबला किया जाए.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY