SHARE

भारत और भारत की जनता अभी शोक में डूबी हुई है. हर तरफ पुलवामा की चर्चा है और सभी जानते है एक कायराना हमले में हमारे 40 जवानो की जान चली गयी. हर तरफ दर्द का आलम है और सभी को काफी ज्यादा तकलीफ हो रही है. ऐसे में भारत ने पुलवामा में हुए हमले को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उठाया है और भारत को कई देशो से समर्थन भी मिला है. अब अमेरिका भी भारत के साथ में खड़ा है और कह दिया है जो कर सकते हो करो.

जी हाँ, अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहाकार जॉन बेल्टन सुबह से भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहाकार अजीत डोभाल को दो बार फोन कर चुके है. उन्होंने फोन करके जवानो के साथ में जो कुछ भी हुआ है उसके लिये दुःख जताया है. यही नही अमेरिका ने ये भी कहा है कि भारत अपनी आत्मरक्षा में जो भी कदम उठाना चाहता है वो जरुर उठाये.

हर कदम में जो भी आत्मरक्षा में उठाया जाता है उसमे अमेरिका भारत का समर्थन करेगा उअर साथ खड़ा करेगा. अमेरिका ही नही रूस और इजरायल भी भारत के लिये संवेदना जता चुके है और सभी देशो ने पाकिस्तान को खरी खोटी सुनानी कर दी है. ऐसे में पाक अब दुनिया में बुरी तरह से अलग थलग पड़ चुका है और अगर इंडिया ने थोडा और जोर लगा दिया तो पाकिस्तान सबसे डूबती अर्थव्यवस्था बनकर के रह जाएगा जिसे रहमो करम के लिये भारत से ही मदद मांगनी पड़ेगी.

हालांकि ये तो कुछ पहले कदम है जिन्हें उठाया ही जाना था पर अभी तो बहुत कुछ किया जाना बाकी है और जब ये सब हो जाते है तब जाकर के लोगो को सुकून आएगा क्योंकि भारत अब चुप तो बिलकुल भी बैठने वाला नही है और ऐसे में देश अपने संसधान और शक्तियों का प्रयोग जब करेगा तो पाकिस्तान कही भी ठहरने वाला नही है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY