SHARE

वैसे भारत में पूरी पूरी स्वतंत्रता है और हर तरफ अपनी मर्जी से जो कोई भी जो कुछ भी करना चाहता है वो करता ही है लेकिन कई बार कुछ चीजे ऐसी होती है जिस पर कुछ एक लोगो को बड़ी आपत्ति होती है और इसके चलते इसे हर जगह से ही बैन कर दिया जाता है. इन दिनों में टिक टोक नाम की एप्प भी इसी तरह की मुश्किलो में फंसते हुए नजर आ रही है. इस एप्प पर लोग अपने विडियो किसी डायलोग या फिर किसी पर एक्टिंग करते है और उसे अपलोड कर देते है. इस एप्प से तमिलनाडु के आईटी मिनिस्टर मणिकंदन को बड़ी दिक्कत है और उन्होंने राज्य सरकार से इस एप्प को बैन करने की मांग कर दी है.

मणिकंदन का कहना है कि इस एप्प के जरिये अश्लीलता परोसी जा रही है जिसके चलते इस पर रोक लगाई जानी चाहिए. ये एक तरह की मोरल पोलिसिंग है जो भारत में नेताओं से लेकर पुलिस और पब्लिक में भी खूब देखी जाती है लेकिन क्या इस आधार पर एप्प को बैन किया जा सकेगा? ये देखने वाली बात होगी.

इससे पहले मणिकंदन ब्लू व्हेल नाम के गेम को भी बैन करने की मांग कर चुके है. आपको बता दे टिक टॉक का नाम पहले म्यूजिकली हुआ करता था और फिर इसी दौरान इस एप्प ने टिक टॉक का रूप ले लिया और नाम बदलने के बाद से ही तो इस पर अब तक करोडो यूजर्स जुड़ चुके है जो इस पर अपने डबिंग विडियो बनाकर के अपलोड करते है.

तेजी से बढ़ती हुई ये एप्प कई लोगो के आँखों की किरकिरी बन चुकी है और कई लोग इसे बेहद ही नापंसद करते है और मणिकंदन समेत कई लोग इसे बैन करने की मांग भी कर चुके है. खैर अब सरकार और कोर्ट इस पर क्या कहते है? ये देखने वाली ही बात होगी.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY